Vaastru shashtra

Make your living easier with expert Vastu Guidance

Vastu shastra is a mediaeval Indian architectural science. Its layout is based on traditional texts. These texts are of profound significance because they demonstrate the ethics of design, land composition, space setting, calculation as well as geographical geometry. The designs carry the objective to connect architecture and nature.

As per vastu shastra, the design, and positioning of several elements in the building play a significant role in the well-being, victory and happiness of a person.p>

According to it, the earth is composed of elements. There are five elements and they are water, soil, fire, space and air.

Another significant principle is the topic of directional alignment and each of these directions is linked to a specific element.

With the understanding of Vastu Shastra, you can position the rooms. It would help to maximise the flow of energy and promote happiness.

The central place is called the Brahmasthan and is of great significance. It is put to use during special occasions and it is generally left free. It is vital to have thorough knowledge about vastu shastra for peace and prosperity and this makes Astrokesar the perfect choice for you.

वास्तु शास्त्र एक मध्यकालीन भारतीय वास्तु विज्ञान है। इसका लेआउट पारंपरिक ग्रंथों पर आधारित है। ये ग्रंथ अत्यंत महत्वपूर्ण हैं क्योंकि ये डिजाइन, भूमि संरचना, अंतरिक्ष सेटिंग, गणना के साथ-साथ भौगोलिक ज्यामिति की नैतिकता को प्रदर्शित करते हैं। डिज़ाइनों का उद्देश्य वास्तुकला और प्रकृति को जोड़ना है।वास्तु शास्त्र के अनुसार, भवन में कई तत्वों का डिज़ाइन और स्थिति व्यक्ति की भलाई, जीत और खुशी में महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है।

इसके अनुसार पृथ्वी तत्वों से बनी है। पांच तत्व हैं और वे हैं जल, मिट्टी, अग्नि, आकाश और वायु। एक अन्य महत्वपूर्ण सिद्धांत दिशात्मक संरेखण का विषय है और इनमें से प्रत्येक दिशा एक विशिष्ट तत्व से जुड़ी हुई है।

वास्तु शास्त्र की समझ से आप कमरों की स्थिति तय कर सकते हैं। यह ऊर्जा के प्रवाह को अधिकतम करने और खुशी को बढ़ावा देने में मदद करेगा।

केंद्रीय स्थान को ब्रह्मस्थान कहा जाता है और इसका बहुत महत्व है। इसे विशेष अवसरों के दौरान उपयोग में लाया जाता है और आम तौर पर इसे खुला छोड़ दिया जाता है।शांति और समृद्धि के लिए वास्तु शास्त्र के बारे में संपूर्ण ज्ञान होना बहुत जरूरी है और यह एस्ट्रोकेसर को आपके लिए सही विकल्प बनाता है।